झाइयां हटाने के नुस्खे: Skin Care Tips

झाइयां हटाने के नुस्खे

झाइयां हटाने के नुस्खे और झाईयों और डार्क सर्कल्स से बचाव और उपाय, जरुरी घरेलु Skin Care Tips, आज हर महिला खूबसूरत दिखना चाहती है और झाइयां और डार्क सर्कल्स एक ऐसी समस्या है जो किसी भी महिला को काफी परेशान करती है।

झाइयां हटाने के नुस्खे एवं उपचार

आज हर महिला खूबसूरत दिखना चाहती है और झाइयां एक ऐसी समस्या है जो किसी भी महिला को काफी परेशान करती है क्योंकि झाइयों का खूबसूरती पर बहुत गहरा असर पड़ता है। साथ ही उन महिलाओं को इन झाइयों से छुटकारा पाने के लिए काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है।

तो दोस्तों आज इस पोस्ट में हम झाइयों के कारण, पहचान, जोखिम, बचाव और इलाज के बारे में जानेंगे। झाइयां क्या हैं, झाइयां होने के कारण क्या हैं और हम इन झाइयों को कैसे रोकने का प्रयास कर सकते हैं?

अक्सर महिलाओं को चेहरे पर झाइयों की शिकायत रहती है। ये झाइयां महिलाओं की खूबसूरती को कम कर देती हैं। असमय आपको चिंताजनक स्थिति में डाल देता है क्योंकि झाइयां उम्र के अधिक होने के संकेत देने लगती हैं।

झाइयों को पिगमेंटेशन के नाम से भी जाना जाता है। यह मुख्य रूप से चेहरे की त्वचा पर होती है। झाइयां त्वचा की सतह को नहीं बदलती हैं और ना ही कोई संवेदना पैदा करती हैं। यह स्थान छूने में सहज लगता है। सिर्फ उनका रंग बदलता है. इनका रंग गहरा भूरा दिखने लगता है।

पुरानी झाइयां अधिक होने पर त्वचा पर बारीक झाइयां उभरने लगती हैं। इनका रंग हल्का और गहरा होता रहता है। निशानों का आकार भी हमेशा एक जैसा नहीं रहता।

एपिडर्मिस, त्वचा की सबसे ऊपरी परत, में रंगद्रव्य कोशिकाएं होती हैं। ये कोशिकाएं ‘मेलेनिन’ नामक रंगद्रव्य का उत्पादन करती हैं। त्वचा और बालों के रंग के लिए ‘मेलेनिन’ पदार्थ जिम्मेदार होता है।

ऐसा होता है कि ये कोशिकाएं सूर्य की किरणों से उत्तेजित हो जाती हैं और अधिक मात्रा में ‘मेलेनिन’ पदार्थ बनाना शुरू कर देती हैं। कोशिकाएं त्वचा पर पड़ने वाली पराबैंगनी किरणों को अवशोषित कर लेती हैं, जिससे वे अधिक ‘मेलेनिन’ का उत्पादन करने के लिए उत्तेजित हो जाती हैं। अधिक ‘मेलेनिन’ का उत्पादन त्वचा की सुरक्षा के लिए किया जाने वाला एक सुरक्षात्मक कार्य है। इसकी मौजूदगी से सूरज की तेज किरणें त्वचा को जला नहीं पाती हैं।

लेकिन होता यह है कि ‘मेलेनिन’ हमारी त्वचा को तो बचा लेता है, लेकिन रंगद्रव्य कोशिकाओं की कार्यप्रणाली में कमी के कारण त्वचा धूप से झुलस जाती है और इन कोशिकाओं की कार्यप्रणाली में कमी अधिक गोरे लोगों में धूप की कालिमा का मुख्य कारण बन जाती है।

चाहे त्वचा गोरी हो या सांवली, कोई भी महिला तभी खूबसूरत दिखती है जब वह एक जैसी रंगत की दिखती हो। चेहरे का रंग कहीं गहरा तो कहीं हल्का होने से किसी भी चेहरे की खूबसूरती कम हो जाएगी।

त्वचा की कई समस्याएं त्वचा को रंग देने वाली कोशिकाओं के कार्य में असंतुलन के कारण ही उत्पन्न होती हैं, रंग देने वाली कोशिकाएं ही झाइयों के लिए जिम्मेदार होती हैं।

कुछ महिलाएं झाइयों से छुटकारा पाने के लिए ब्लीच कराती हैं। ब्लीच के दाग केवल थोड़े समय के लिए ही दिखाई देने वाले परिवर्तन दिखाते हैं। लेकिन ब्लीच से त्वचा सूरज की पराबैंगनी किरणों के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाती है, जिससे झाइयां और गहरी हो जाती हैं।

झाइयां मुख्य रूप से खून की कमी के कारण होती हैं। त्वचा के भीतर स्थित वर्णक कोशिकाओं को भी बारीक रक्त वाहिकाओं द्वारा पोषित किया जाता है। प्रसव, मधुमेह, हृदय रोग, गर्भपात आदि रोगों के कारण शरीर में खून की कमी हो जाती है, जिसके कारण खून की कमी हो जाती है और चेहरे पर झाइयां पड़ जाती हैं।

इसके अलावा कुछ सौंदर्य प्रसाधन भी झाइयों का कारण बनते हैं। जैसे हेयर डाई, ब्लीच, सस्ता रूज, फाउंडेशन आदि। लंबे समय तक त्वचा पर इन सौंदर्य प्रसाधनों का उपयोग करने से भी झाइयां हो सकती हैं।

जैसे-जैसे झाइयां पुरानी होती जाती हैं, निशान गहरे होते जाते हैं, ऐसे में इलाज में लंबा समय लग सकता है। झाइयों का सही और उचित इलाज एक कुशल और योग्य सौंदर्य चिकित्सक द्वारा ही किया जा सकता है। घरेलू नुस्खे एक हद तक ही फायदा पहुंचा सकते हैं। यह बात तो तय है कि घरेलू उपायों से इनके बढ़ने की गति को काफी हद तक रोका जा सकता है।

अगर आपके चेहरे पर झाइयां हैं तो इन बातों का ध्यान रखें

त्वचा को धूप से बचाएं और अच्छी कंपनी की सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।

जिस जगह पर झाइयां उभरी हैं, अगर आप नियमित रूप से कोई कॉस्मेटिक लगाती हैं तो जांच लें कि वह कॉस्मेटिक पुराना न हो और अच्छी कंपनी का हो।

अगर आप हेयर डाई का इस्तेमाल करते हैं तो डाई लगाने के एक या दो दिन बाद मेहंदी या अंडे का पेस्ट लगाएं, ताकि बालों पर केमिकल का असर कम हो सके।

खून में हीमोग्लोबिन कम होने पर खून की जांच कराएं, भोजन में आयरन की मात्रा बढ़ा दें।

ब्लीचिंग का प्रयोग न करें. आवश्यकता पड़ने पर किसी अनुभवी सौंदर्य विशेषज्ञ को दिखाने के बाद ही ब्लीचिंग का प्रयोग करना चाहिए।

झाइयों का इलाज:झाइयां हटाने के नुस्खे

एक बादाम को पीसकर उसमें एक चम्मच शहद, एक चम्मच हाइड्रोजन पेरोक्साइड मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे झाइयों पर लगाएं। 30 मिनट बाद धो लें. इसे दिन में एक बार प्रयोग करें।

रात को सोने से पहले त्वचा पर क्रीम लगाएं, फिर गीली रुई से पोंछकर साफ कर लें

एक चम्मच सिरका, एक चम्मच शहद मिलाकर दाग पर दिन में एक बार 30 मिनट के लिए लगाएं और धो लें।

एक चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच शहद, एक चम्मच हाइड्रोजन पेरोक्साइड मिलाकर झाइयों पर लगाएं और 30 मिनट बाद धो लें।

रात को सोने से पहले दो चम्मच बादाम का तेल, दो चम्मच सिरका या नींबू का रस, एक चम्मच ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर दो-तीन मिनट तक मसाज करें।

तीन चम्मच मिल्क पाउडर, आधा कप खीरे का पेस्ट, एक नींबू का रस, एक चम्मच सोयाबीन या जौ का आटा मिलाकर फेस पैक बनाएं। इसे फ्रिज में रखें, रोजाना मालिश के बाद चेहरे पर लगाएं, सुखाएं और रगड़कर धो लें।

दो चम्मच मिल्क पाउडर, दो से तीन चम्मच हाइड्रोजन पेरोक्साइड मिलाकर चेहरे पर लगाएं और कुछ देर मसाज करने के बाद धो लें।

लैक्टिक एसिड का उपयोग आपकी सुंदरता को 4 चाँद लगा सकता है।

डार्क सर्कल्स और झाइयां हटाने के नुस्खे

1 टमाटर लें, इसे 1 चम्मच नींबू के रस और चुटकी भर हल्दी और बेसन मिलाकर ग्राइंडर में पीस लें। इस गाढ़े पेस्ट को अपनी आंखों के आसपास लगाएं और 20 मिनट बाद चेहरा धो लें। ऐसा हफ्ते में 3 बार करें।

डार्क सर्कल्स को दूर करने के लिए आप खीरे या आलू का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए खीरे या आलू को कुचलकर या कद्दूकश करके इसे डार्क सर्कल्स के ऊपर रखें। कुछ देर रखने के बाद इसे हटाकर चेहरा साफ कर लें। इससे आंखों के आसपास के डार्क सर्कल्स और कालापन कम होगा।

डार्क सर्कल पर इस्तेमाल होने वाले ठंडे टी-बैग का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। टी-बैग में मौजूद टैनिन नामक तत्व आंखों के आसपास की सूजन को कम करता है और डार्क सर्कल्स को दूर करता है।

आप रात को आंखों के आसपास के डार्क सर्कल्स और संवेदनशील त्वचा पर बादाम का तेल लगाकर सो सकते हैं। दूसरे दिन सुबह ठंडे पानी से मुंह धो लें।

बंद आंखों पर गुलाब जल में रुई भिगोकर रखें। ऐसा 10 मिनट तक करें। ऐसा करने से आंखों के आसपास के काले घेरे कम हो जाएंगे।

पुदीने की पत्तियों को पीसकर आंखों के आसपास लगाएं। इसे कुछ देर के लिए छोड़ दें और फिर आंखों को पानी से धो लें। इससे आपको बहुत मदद मिलेगी।

संतरे का रस और ग्लिसरीन को एक साथ मिलाएं और इसे रोजाना आंखों और आसपास के क्षेत्र पर लगाएं। यह बहुत प्रभावशाली है और डार्क सर्कल्स को दूर करता है।

अपने आहार में हरी सब्जियां, दही, अंकुरित अनाज, खट्टे फल, दालें, दूध आदि लें। इसके अलावा टमाटर और ओमेगा 3 युक्त अखरोट जैसे खाद्य पदार्थ खाएं। साथ ही आयरन और विटामिन-ए से भरपूर आहार लें।

कंसीलर से भी डार्क सर्कल को छुपाया जा सकता है। इसके साथ कॉम्पैक्ट पाउडर लगाएं, आंखों के नीचे के काले घेरे काफी हद तक छिप जाएंगे। कंसीलर खरीदते समय इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि कंसीलर का शेड फाउंडेशन के शेड से मेल खाता हो।

झाइयां हटाने के नुस्खे: Skin Care Tips

हल्दी

बेसन में जरुरत अनुसार दूध मिलाकर उसमें 1-2 चुटकी हल्दी मिला लें, इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाकर सूखने दे और सूखने के बाद पानी से धो ले। ऐसा नियमित करने से आपकी झाइयां दूर हो जाएंगी।

नींबू का रस

विटामिन C युक्त नींबू पुरानी से पुरानी झाइयां दूर करने में बहुत कारगर होता है। 1 चम्मच शहद में 8-10 बूंदे शहद की मिलाकर चेहरे पर हल्के हाथों से मालिश करके 20 मिनट रहने दे, उसके बाद चेहरा धोकर किसी अच्छी ब्रांड का मॉइस्चराइज़ लगाए।

नीलगिरि का तेल

झाइयां दूर करने में नीलगिरि का तेल भी बहुत अच्छा असर करता है। कुछ बूंदे नीलगिरि के तेल को किसी अन्य तेल में मिलाकर चेहरे पर हल्के हाथों से मसाज करें, यह भी झाइयां दूर करने में सहायक होता है।

केले का छिलका

एक पके हुए केले का गूदा लें और उसे केले के छिलके की मदद से अपने चेहरे पर हल्के हाथों से मसाज करें। 15-20 मिनट मसाज करने के बाद सादे पानी से चेहरा धो ले। कुछ ही दिनों में झाइयां दूर होने लगेंगी।

बेसन

बेसन भी चेहरे की सुंदरता बढ़ाने और पुरानी झाइयां दूर करने में बहुत असरकारक होता है। बेसन में आप दूध या खीरे का रस मिलाकर पेस्ट तैयार कर ले। इस पेस्ट को आप अपने चेहरे और झाइयां पर लगाकर छोड़ दें। कुछ देर बाद पानी से चेहरे को धो लें। ऐसा नियमित करने से आपकी झाइयां दूर हो जाएंगी।

एलोवेरा

ताजा एलोवेरा झाइयां दूर करने का अच्छा फार्मूला है, एलोवेरा वैसे भी बहुत अच्छा मॉइस्चराइज़ और त्वचा को चिकना और चमक लाता है। एलोवेरा के पत्ते से उसका गूदा निकलकर रोजाना चेहरे पर लगाए। ऐसा करने से पुराने दाग-धब्बें, झाइयां दूर हो जायेंगे।

दही

चेहरे की सुंदरता बढ़ाने, चमकदार और चिकना बनाने में दही बहुत कारगर होता है। दही लेकर उसे अपने चेहरे पर लगाकर हल्के हाथों से मसाज किया करे। चेहरे की चमक और सुंदरता तो बढ़ेगी ही साथ ही झाइयां भी दूर हो जाएंगी, चेहरा खिल उठेगा।

संतरे के छिलके के चेहरे पर जबरदस्त फायदे

संतरे का छिलका इतना उपयोगी है कि जब इसके गुण जानेंगे तो आप कभी भी इसके छिलके को फेंकना नहीं चाहेंगे।

त्वचा को बनाएं चमकदार

संतरे के छिलके में क्लींजिंग, एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो पिंपल और मुंहासों से लड़ने में मददगार होते हैं। संतरे के छिलके को सुखाकर पीस लें और दही में मिलाकर त्वचा पर लगाने से त्वचा चमकदार और मुलायम हो जाती है। संतरे के छिलकों को बेसन में मिलाकर लगाने से तैलीय त्वचा वालों को विशेष लाभ होता है और मुहांसे खत्म हो जाते हैं।

बालों को खूबसूरत बनाता है

अगर आपके बाल बहुत रूखे और बेजान दिखते हैं तो संतरे के छिलके आपके लिए वरदान साबित हो सकते हैं। संतरे के छिलके को पीसकर बालों में कुछ देर के लिए लगाएं और फिर बाल धो लें। बाल चमकदार और मुलायम हो जायेंगे. संतरे के छिलके को पीसकर उसमें गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर लगाने से दाग-धब्बे दूर हो जाते हैं।

Read Alao:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *