पिगमेंटेशन-Skin Pigmentation in hindi

पिगमेंटेशन-Skin Pigmentation in hindi

पिगमेंटेशन

पिगमेंटेशन होने पर आपकी त्वचा पर धब्बें या झाइयां पड़ने लगती है, जो आपके चेहरे की सुंदरता को पूरी तरह से ख़राब कर देती है, ऐसी स्तिथि में आपको उसे छिपाने के लिए कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स और क्रीम या ट्रीटमैंट करवाना पड़ता है, लेकिन फिर भी बहुत बार निराशा का ही सामना करना पड़ता है और जैसे ही आप धूप के संपर्क में आते है यह झाइयां फिर बढ़ जाती है,

ऐसे में हमें लोगों से ऐसी भी सलाह सुनने को मिलती है की समय के साथ साथ यह झाइयां अपने आप ख़त्म हो जाएँगी,

लेकिन आपको निराश नहीं होना चाहिए, ऐसे बहुत से घरेलु नुस्खें, अच्छी क्रीमें और उपाय है जिन्हें हम इस्तेमाल करके इन झाइयों को कम कर सकते है,

आइये आज की इस पोस्ट में हम इसी परेशानी जिसे हम पिगमेंटेशन (दाग-धब्बें, झाइयां) कहते है, इसके बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे और इसके कुछ घरेलु उपायों के बारे में भी जानकारी प्राप्त करेंगे।

Skin Pigmentation in hindi

जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती है, बढ़ती हुई उम्र के साथ हमारे चेहरे की त्वचा में भी बदलाव आने शुरू हो जाते है, और इन्हीं उम्र के बदलावों के साथ चेहरे पर  ब्राउन, ब्‍लैक और लाल रंग के छोटे छोटे स्‍पॉट होने लगते है, त्वचा ढलकने लगती है, झुर्रियों का उभारना शुरू हो जाता है, 

और नतीजा होता है, ख़राब त्वचा और चेहरे की खूबसूरती का ख़त्म होना। 

बढ़ती उम्र के साथ चेहरे की त्वचा में “मेलेनिन” नामक तत्व बहुत अधिक मात्रा में बढ़ने लगता है, ( “मेलेनिन” की मात्रा अधिक होने से डार्क स्पॉट्स बढ़ने लगते है)

और चेहरे पर डार्क काले, लाल और ब्राउन धब्बे उभरने लगते है, और डार्क स्पॉट्स का रूप ले लेते है

Read Also: अपने चेहरे को खूबसूरत कैसे करें- Best Tips 

पिगमेंटेशन– का मतलब होता है जब चेहरे की त्वचा को जरुरी पोषक तत्वों का मिलना बंद हो जाना,

बढ़ती उम्र के साथ या धूल मिट्टी, टेंशन आदि से चेहरे की त्वचा में पिगमेंटेशन होना शुरू हो जाता है, और त्वचा को पोषक तत्व न मिलने की वजय से त्वचा काला पड़ना, त्वचा का ढलक जाना, दाग धब्बे, झुर्रियों का उभारना शुरू हो जाता है। 

इसलिए बढ़ती उम्र और आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी की देन होती है डार्क स्पॉट्स और पिग्मेंटेशन,

इसलिए यह बहुत जरुरी होता है की अगर आप अपने चेहरे को स्वस्थ और सुन्दर रखना चाहते है तो उसकी नियमित देखभाल करे। 

पिगमेंटेशन क्या है?

हमारे चेहरे की त्वचा में “मेलेनिन” नामक एक प्रदार्थ होता है, जो हमारी त्वचा की रंगत यानि गोरी या गहरे रंग की त्वचा होने को कंट्रोल करता है,
जब हमारी त्वचा इस “मेलेनिन” का उत्पादन अधिक मात्रा में करने लगती है तो हमारी त्वचा का रंग गहरा होने लगता है और जब इस “मेलेनिन” का उत्पादन कम होने लगता है तब चेहरे की त्वचा का रंग गेहुंआ या गोरा होने लगता है,

होता यह है की जब हमारी त्वचा की कोशिकाएं क्षतिग्रस्त या कमजोर पड़ने लगती है तब इस “मेलेनिन” का उत्पादन अव्यवस्तित होने लगता है, जो की हमारे चेहरे पर या तो काले धब्बों, झाइयों को बढ़ाने लगता है या फिर सफ़ेद धब्बों के रूप में, इसी प्रकिया को “पिगमेंटेशन” बोला जाता है।

पिगमेंटेशन के प्रकार

पिगमेंटेशन 3 प्रकार के होते है।

  • ऐल्बिनिज्म (अल्बिनो)
  • मेलास्मा
  • विटिलिगो

ऐल्बिनिज्म (अल्बिनो) – यह अनुवांशिक होता है, ऐल्बिनिज्म से पीड़ित व्यक्ति के बाल सफ़ेद, रूखी और बेजान त्वचा और आँखे नीली होती है जो की धूप में जाने पर लाल हो जाती है, इसकी वजय से व्यक्ति की दृष्टि भी ख़राब होती है,
ऐल्बिनिज्म के लाइलाज बीमारी है, इस बीमारी में सूर्य की रौशनी में निकलने से बहुत परेशानी होती है।

मेलास्मा – पिगमेंटेशन के इस प्रकार में मेलास्मा सबसे आम समस्या है और यह विशेषकर महिलाओं में ही देखने हो मिलती है,
मेलास्मा में चेहरे पर भूरे या गहरे रंग के धब्बें पड़ते है, जिन्हें हम झाइयां बोलते है, मेलास्मा की परेशानी 20 से 50 वर्ष की महिलाओं काफी आम देखी जा सकती है,

मेलास्मा की समस्या महिलाओं में गर्भावस्था, तनाव, अधिक सूर्य के संपर्क में आने से, वातावरण, प्रदुषण, असंतुलित हार्मोन्स या अधिक गर्भ निरोधक गोलियां के सेवन से हो सकती है।

विटिलिगो – पिगमेंटेशन की इस परेशानी को सफेदा भी बोला जाता है, भारत में लोग इस परेशानी को छूत की बीमारी समझते है, विटिलिगो को भी एक अनुवांशिक बीमारी ही माना जाता है,
विटिलिगो की परेशानी में चेहरे की त्वचा पर सफ़ेद धब्बें होते है और यह सफ़ेद धब्बें चिकने होते है, कुछ ही मामलों में यह पूरी तरह से ठीक हो पाती है।

पिगमेंटेशन के कारण

मेलानिन का अधिक बढ़ना – मेलानिन नामक प्रोटीन जो हमारी त्वचा के रंग को कण्ट्रोल करता है, जब इसकी मात्रा अधिक बढ़ने लगती है तब हमारी त्वचा का रंग गहरा होने लगता है,
चेहरे पर जहां जहां मेलानिन अधिक बढ़ जाता है वहां वहां यह गहरे धब्बों या झाइयों के रूप में दिखलाई देने लगता है।

अधिक सूर्य के संपर्क में रहना – जब गोर रंग के लोग बहुत अधिक सूर्य की हानिकारक किरणों के संपर्क में रहते है, तो उनकी त्वचा पर सूर्य की हानिकारक किरणों का बुरा असर चेहरे की चमड़ी पर पड़ता है,
जो की त्वचा के पिगमेंटेशन का कारण बनता है और दाग और झाइयां पड़ने लगती है।

हार्मोनल कारण – व्यक्ति में हार्मोन्स का असंतुलन भी पिगमेंटेशन के मुख्य कारणों में से एक है, और चेहरे पर दाग और झाइयां उभरने लगते है।

गर्भावस्था – गर्भावस्था के दौरान स्त्रियों के हार्मोन्स में बहुत से बदलाव आते है, जिसकेकारण अक्सर आपने देखा होगा की गर्भवती स्त्रियों की आँखों के नीचे और चेहरे पर झाइयां उभर आती है।

अनुवांशिक कारण – यह भी पिगमेंटेशन (दाग और झाइयां ) होने के कारणों में से एक है, अगर आपके माता, पिता या परिवार में इसकी समस्या है, तो यह अनुवांशिक तौर पर आपको भी होने के बहुत अधिक चांसेस हो सकते है।

इन्फेक्शन – अगर आपके चेहरे पर किसी प्रकार का इन्फेक्शन है तो यह भी पिगमेंटेशन का एक कारण हो सकता है।

तनाव – आजकल की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में बहुत से तनाव भी पिगमेंटेशन का कारण बनते है।

अनिंद्रा – कम नींद या नींद पूरी न होना भी पिगमेंटेशन का एक कारण हो सकता है, जिसकी वजय से चेहरे पर दाग-धब्बें और झाइयां उभर सकते है।

झाइयों और काले दाग-धब्बे को दूर करने के तरीक़े

झाइयों और दाग-धब्बों कम करने के बहुत से तरीके है, अगर चेहरे की झाइयां और धब्बें हल्के है तो इन्हे आप स्किन लाइटनिंग और सन ब्लॉकिंग क्रीम के नियमित इस्तेमाल से भी कम कर सकते है,

अगर यह झाइयां और धब्बें काफी अधिक गहरे है तो आपको केमिकल पील, माइक्रो नीडलिंग, लेजर थेरेपी और कैमफ्लाश़ को इन्हें दूर करने के लिए इस्तेमाल करना होगा,
लेकिन जब आप इन उपायों को इस्तेमाल करेंगे तब आपको कुछ बातों का विशेष ख्याल रखना होगा जैसे की:-

  • अगर आप बर्थ कंट्रोल या फर्टीलिटी बढ़ाने की दवाओं का इस्तेमाल कर रहे है तब आपको इनके सेवन को रोकना होगा।
  • धूप में निकलने से बचना होगा, अगर आपको धूप में निकलना पड़ रहा है तो आपको अपने चेहरे को ढक कर रखना होगा।
  • अगर आप मेकउप में है तो मेकअप को बहुत देर तक लगे नहीं रहने देना होगा।

1. स्किन लाइटनिंग क्रीम

स्किन लाइटनिंग क्रीम में हाइड्रोक्वीनाइन होता है, जो की चेहरे की त्वचा के मेलेनिन की मात्रा को कण्ट्रोल करता है,
मेलेनिन का कम या अधिक होना चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों का कारण बनता है, जब मेलेनिन की मात्रा नियमित हो जाती है तो चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयां दूर होने लगते है।

2. केमिकल पील्स

केमिकल पील्स का इस्तेमाल चेहरे की ऊपरी त्वचा को हटाने के लिए किया जाता है, जब त्वचा की ऊपरी परत हटती है तब अंदर की साफ त्वचा बाहर आती है,
केमिकल पील्स में बहुत सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है, गलत या अधिक केमिकल पील्स आपकी त्वचा को बहुत ज्यादा सफ़ेद कर सकता है,

इसलिए इसे बहुत सुरक्षित तरीका से ही करना चाहिए और किसी चर्मरोग विशेषज्ञ की निगरानी में ही इसे किया जाना चाहिए।

3. माइक्रोनीडलिंग

माइक्रो नीडलिंग एक कॉस्मेटिक प्रक्रिया होती है जिसमें छोटी सुइयों का इस्तेमाल दाग-धब्बों, रोमछिद्रों, झुर्रियों, मुहासों के उपचार के लिए किया जाता है,
इस उपचार द्वारा नए कोलेजन और त्वचा के नए ऊतकों को जनन किया जाता है, जिससे दाग़-धब्बों और झाइयों को कम किया जाता है,
इस प्रक्रिया में चेहरे की त्वचा छिल भी सकती है।

4. लेजर थेरेपी

लेजर थेरेपी में झाइयों और काले दाग-धब्बे को ख़त्म करने के लिए लेजर का इस्तेमाल किया जाता है।

चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों के कुछ घरेलु उपाय :-

ऐसे बहुत से आसान घरेलु उपाय है जिनके इस्तेमाल से आप अपने चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों को कम कर सकते है और यह चीजें आपकी रसोई में आसानी से उपलब्ध रहती है,
सबसे बड़ी बात की यह चीजें बहुत कारगर तो है ही साथ ही इनके इस्तेमाल से आपको किसी भी तरह के साइड एफेक्ट का भी कोई खतरा नहीं है, बल्कि इनके नियमित इस्तेमाल से आपको मिलती है दाग-धब्बों और झाइयों रहित खूबसूरत त्वचा, तो आइये जानते है ऐसे ही कुछ लाभकारी घरेलु उपाय।

1.गाजर से झाइयों पर लाभ

जैसा की हम सभी जानते है की गाजर खाने में सवादिष्ट तो होती ही है और इसके बहुत से गुणकारी लाभ भी है, साथ ही यह आपके चेहरे की त्वचा के लिए भी बहुत लाभकारी है,
गाजर बहुत से एंटीसेप्टिक गुणों से भरपूर है, गाजर में मौजूद बीटा कैरोटीन और आयरन आपकी त्वचा को बहुत पोषक तत्व प्रदान करते है, आपके चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों को दूर करते है और साथ ही आपकी त्वचा को नर्म, मुलायम और सुन्दर बनाये रखते है।

इस्तेमाल का तरीका

गाजर को कद्दूकश करके उसे निचोड़ कर उसका रस निकाल ले, अब इसमें १ चम्मच कच्चा दूध मिला लें, अब इस मिश्रण को अपने चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों पर रुई की फांख से थोड़ी थोड़ी देर तक लगाती रहे, फिर उसे १५ से २० मिनट तक लगा रहने दे,
ऐसा नियमित करने से आप देखेंगी की आपके दाग-धब्बों और झाइयां धीरे धीरे कम होने लगेंगी।

2.आलू से झाइयों पर लाभ

आलू भी दाग-धब्बों और झाइयों को कम करने के लिए बहुत लाभकारी है, आलू में मौजूद एंटी पिगमेंटेशन तत्व दाग-धब्बों और झाइयों को कम करने में बहुत सहायक होते है,
आलू के नियमित इस्तेमाल से काफी लाभ मिलते है।

इस्तेमाल का तरीका

पहला तरीका- आलू को कद्दूकश करके उसका रस निकाल लें, अब उस रस को अपने दाग-धब्बों और झाइयों पर थोड़ी थोड़ी देर लगाती रहे,
दूसरा तरीका- आलू को बीच में से २ टुकड़ों में काट लें, अब इन कटे हुए टुकड़ों को अपने दाग-धब्बों और झाइयों पर हल्के हाथों से मलती रहे, ऐसा आप १५ से २० मिनट नित्य रोज करें,
आपको दाग-धब्बों और झाइयों में बहुत लाभ होगा।

3.एलोवीरा से झाइयों पर लाभ

एलोवीरा के लाभों के बारे में तो आपने सुना ही होगा, एलोवीरा में मौजूद तत्व चेहरे सुंदरता और चेहरे की बीमारियों में अत्यंत लाभकारी होता है, एलोवीरा एक प्रकार का प्राकृतिक एंटी पिगमेंटेशन है, जो आपके चेहरे के सभी प्रकार के दाग-धब्बों और झाइयों और त्वचा के रोगों को ख़त्म करता है,

इस्तेमाल का तरीका

एलोवेरा की टहनी को काट कर गूदे वाले हिस्से को ऊपर से छील लें, अब इस गूदे में थोड़ा शहद मिला कर अच्छी तरह से फैंट ले,
अब इस गूदे को या तो अपने चेहरे पर लगा कर २० मिनट तक सूखने दे या फिर इस मिश्रण को अपने हाथों ले लेकर धीरे धीरे मलती रहें।

4.हल्दी से झाइयों पर लाभ

हल्दी में प्राकृतिक रूप से मौजूद एंटी इंफ्लेमटरी और एंटीसेप्टिक गुण चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों के के लिए बहुत लाभकारी होते है, हल्दी चेहरे के रंग को साफ करती है और चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों को कम करती है।

इस्तेमाल का तरीका

२ चम्मच कच्चे दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर छोड़ दे और २० मिनट बाद चेहरा धो ले,
दूसरा २ चम्मच बेसन में आधा या कम चम्मच हल्दी बेसन में मिलकर उसमें १ चम्मच दूध मिलाकर पेस्ट तैयार कर ले और इसे अपने पुरे चेहरे पर लगाए,
ऐसा नियमित करने से चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयां खत्म होंगे और चेहरे में निखार आएगा।

पिगमेंटेशन में खानपान और सावधानियां

1. चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों के लिए विटामिन A और आयरन मुख्य रूप से कमी की वजय से होता है, इसलिए अपने भोजन में ऐसे खानपान को शामिल रखें जिनसे विटामिन A और आयरन की पूर्ति अध्क होती है।

2. चिकनी और खूबसूरत त्वचा के लिए विटामिन C की भी मुख्य भूमिका रहती है, विटामिन C की कमी चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों को बढ़ाता है, इसलिए ऐसे प्रदार्थ जिनमें विटामिन C की भरपूर मात्रा रहती है जैसे आंवला, नींबू, संतरा, ब्रोकोली, आलू, शकरकंद, कीवी, मौसम्बी आदि का भरपूर सेवन करना चाहिए।

3. हरी सब्जियों और हरी पत्तेदार सब्जियों में भी बहुत से लाभकारी विटामिन्स और प्रोटीन्स की मात्रा रहती है जो चेहरे की त्वचा और सुंदरता के लिए बहुत लाभकारी है, इसलिए इन्हें अपने रोजमर्रा के भोजन में जरूर शामिल रखना चाहिए।

4. फलों का रस भी चेहरे की सुंदरता और चेहरे की चमक में बहुत अहम भूमिका निभाता निभाता है, इसलिए अपने खानपान में फलों के रस को भी शामिल रखें।

5. पानी हमारे चेहरे को हाइड्रेट रखता है, जिससे हमारे चेहरे में नमी बानी रहती है और त्वचा रूखी और बेजान नहीं होती, रूखी और बेजान त्वचा दाग-धब्बों और झाइयों की उत्पत्ति का कारण बनती है, इसलिए दिनभर में कम से कम ८ गिलास पानी जरूर पिए।

6. अपने पेट को साफ रखें, अगर आपके पेट में कब्जी है तो इसका सीधा असर आपके चेहरे की त्वचा पर दिखलाई पड़ता है, अगर आपको कब्जी रहती है तो चेहरे पर दाग-धब्बों और झाइयां होने के चांसेस बढ़ते है, इसलिए अपने खानपान में फाइबर युक्त चीजों का सेवन जरूर रखें, जिससे आपका पेट साफ रहे और कब्जी ना हो।

7. पर्याप्त मात्रा में नींद लें, नींद की कमी भी चेहरे के दाग-धब्बों और झाइयों का कारण बनती है।

8. प्रदूषित वातावरण और सूर्य की हानिकारक पराबैगनी किरणों के अपने चेहरे को बचा कर रखें, बाहर निकलने पर अच्छी कंपनी की सन स्क्रीन क्रीम का प्रयोग करें।

पिगमेंटेशन में परहेज

तेल युक्त, गरिष्ठ भोजन, जंक फ़ूड, बासी भोजन सेवन नहीं करें।
अधिक मात्रा में चाय और कॉफ़ी के सेवन से बचें।
कोल्ड्रिंक्स जैसे ड्रिंक्स को अपने जीवन में शामिल ना करें।
अपने चेहरे को प्रदूषित वातावरण और सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाये।
मेकउप को बहुत अधिक देर तक अपने चेहरे पर लगा मत रहने दे।
अपने जीवन में सुबह योग और व्यायाम को शामिल करें।
अधिक नमक और शक्कर का इस्तेमाल ना करें।
शराब और धूम्रपान से बिलकुल दूर रहें।
रात को बहुत देर तक ना जागे।

पिगमेंटेशन में कुछ लाभकारी सीरम

आइये कुछ ऐसे शानदार और असरदार सीरम के बारे में जानकारी प्राप्त करते है, जिसके नियमित इस्तेमाल से आप डार्क स्पॉट्स और पिग्मेंटेशन को काफी हद तक रोक सकते है, और अपनी त्वचा को स्वस्थ रखते हुए अपनी त्वचा को पोषक तत्व दे सकते है।  

यह सीरम लोगों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है और इसके बहुत अच्छे परिणाम देखने को मिल रहे है, 

1. Mars by GHC 2% Alpha Arbutin Serum For Dark Spots & Pigmentation 30 ml

यह सीरम स्त्री और पुरुषों दोनों के लिए लाभकारी है। 

यह सीरम चेहरे पर उभरने वाले काले,लाल, ब्राउन धब्बे, डार्क सर्कल्स, पिगमेंटेशन, मुहासों से उभरने वाले दाग, आदि चीजों को खत्म करता है, उन्हें बढ़ने से रोकता है और चेहरे की जरुरी पोषक तत्वों की कमी को दूर करता। है 

यह सीरम  Antimicrobial and anti-fungal गुणों से भी भरपूर है, जो आपको सुन्दर और स्वस्थ त्वचा देता है, और आपकी त्वचा को दाग रहित और सुन्दर बनाता है। 

यह भी पढ़ें: आपके सौंदर्य की सुंदरता के सर्वोत्तम सुझाव

2. Alpha Arbutin Serum For Dark Spots & Pigmentation

Arbutin Serum सूरज की खतरनाक और हानिकारक किरणों से पूर्ण रूप से सुरक्षित रखता है, और सूरज की किरणों से उभरे डार्क सर्कल्स और काली त्वचा को कम करते हुए निखार लाता है,

त्वचा के रंग को एकसमान रखता है, और किसी भी प्रकार के मुंहासो से उभरे दाग और धब्बों को ख़त्म करता है। 

इस सीरम में Alpha Arbutin नामक तत्व का इस्तेमाल किया गया है, जो सूर्य की खतरनाक UV किरणों से सुरक्षित रखते हुए हाइपरपिग्मेंटेशन नहीं होने देता। 

Arbutin Serum बहुत हल्का सीरम है, यह आसानी से पूरी तरह से चेहरे की त्वचा में समा जाता है, और अंदर समां का त्वचा की कोशिकाओं को जरुरी पोषक तत्वों की पूर्ति करते हुए हाइपरपिग्मेंटेशन और त्वचा की मलिनकिरण को खत्म करता है, जिससे दाग धब्बे ख़त्म होते है, त्वचा में निखार आता है और आपकी त्वचा को मिलती है एक शानदार देखभाल। 

Arbutin Serum में मौजूद kojic acid, इस सीरम को शानदार anti-aging serum भी बनाता है और यह आपके चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियों को ख़त्म करता है और आपको देता है एक शानदार चमकदार त्वचा। 

 यह भी पढ़ें: कैसा है आपका भविष्य, कैसा होगा आपका जीवन

निष्कर्ष

साथियों, उम्मीद है की इस लेख को पढ़कर आपको पिगमेंटेशन के बारे में काफी कुछ जानकारियां प्राप्त हुई होंगी, अगर आप बताई हुई जानकारियों को अपने जीवन में शामिल करेंगे तो निश्चित ही पिगमेंटेशन की समस्या से आपको काफी लाभ मिल सकते है और आप अपने चेहरे को सुन्दर बनाये रख सकते है,

लेकिन फिर भी अगर आपको डार्क स्पॉट्स और पिग्मेंटेशन की अधिक समस्या है तो आपको बिलकुल स्किन केयर विशेषज्ञ की देख रेख में ही अपना उपचार करवाना चाहिए।
धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *