7 टिप्स के साथ रखें अपनी ऑयली स्किन का ख्याल

7 टिप्स के साथ रखें अपनी ऑयली स्किन का ख्याल

जिन लोगों की स्किन ऑयली होती है, उनके लिए अपनी स्किन का ख्याल रखना बहुत जरुरी हो जाता है क्योंकि थोड़ी सी लापरवाही आपकी ऑयली स्किन को काफी नुकसान पंहुचा सकती है। इसलिए अगर आपकी स्किन ऑयली है तो आप भी इन 7 टिप्स के साथ रखें अपनी ऑयली स्किन का ख्याल।

तैलीय त्वचा के घरेलू उपचार

7 टिप्स के साथ रखें अपनी ऑयली स्किन का ख्याल

यह भी जानें: फेस पर ग्लो कैसे लाए टिप्स इन हिंदी|ग्लोइंग स्किन पाने के लिए अपनाएं ये 6 नेचुरल उपाय

माइल्ड मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल

वैसे तो मॉइस्चराइजर क्रीम सभी प्रकार की त्वचाओं के लिए जरुरी है क्योकि मॉइस्चराइजर आपकी त्वचा की देखभाल करता है, त्वचा को हाइड्रेट और मुलायम रखता है। लेकिन अगर आपकी त्वचा ऑयली है तो ज्यादा हैवी मॉइस्चराइजर आपकी त्वचा को बहुत अधिक ऑयली कर सकता है जिसकी वजय से आपकी त्वचा को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

इसलिए आपको माइल्ड मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन आप यह ना सोचें की ऑयली त्वचा पर मॉइस्चराइजर की क्या जरुरत है। ऑयली त्वचा के लिए भी मॉइस्चराइजर बहुत जरुरी है क्योकि मॉइस्चराइजर आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखने के साथ साथ सीबम के प्रोडक्शन को भी नियंत्रित रखता है।

चेहरे पर रूखी और बेजान त्वचा का इलाज कैसे करें

सनस्क्रीन का इस्तेमाल

ऑयली स्किन वाले जब बाहर सूर्य की रौशनी में निकलते है तो उनकी त्वचा में तेल अधिक होने की वजय से उनकी स्किन बहुत जल्दी जलने से काली पड़ती है। इसलिए सुबह उठकर अपना चेहरा अच्छी तरह से साफ करने के बाद “ऑयल फ्री सनस्क्रीन” का इस्तेमाल जरूर करें और अधिक एसपीएफ सनस्क्रीन का चुनाव करें।

ऑयली स्किन को एक्सफोलिएट

एक्सफोलिएट क्या है यह हम आपको पहले की पोस्ट में बता ही चुके है। अगर आपकी त्वचा ऑयली है तो आपको अधिक एक्सफोलिएट करने से बिलकुल बचना चाहिए। अमेरिका में एक अनुसन्धान के अनुसार ऑयली स्किन वाले व्यक्तियों को केमिकल युक्त स्क्रब क्रीम के इस्तेमाल से बिलकुल बचना चाहिए, उन्हें अपने घर में घरेलु तरीके से बनाए गए फेस स्क्रब्स का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

रूखी त्वचा के घरेलू उपचार

ऑयली स्किन बहुत सेंसिटिव होती है, उसपर गन्दगी और डेड सेल्स भी बहुत जल्दी आते है, इसलिए एक्सफोलिएट करना तो उनके लिए जरुरी है लेकिन बहुत सिमित मात्रा में, ऑयली स्किन वाले व्यक्ति को 10/12 दिन में एक बार एक्सफोलिएट करना चाहिए। जल्दी जल्दी एक्सफोलिएट करने से उनकी प्रोटेक्टिव लेयर डैमेज हो सकती है जिसकी वजय से उन्हें बहुत सी त्वचा की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है और उनकी त्वचा और अधिक ऑयली हो सकती है।

ब्लोटिंग पेपर का इस्तेमाल

ऑयली स्किन वाले व्यक्तियों को ब्लोटिंग पेपर का इस्तेमाल करते रहना चाहिए। जब भी आप कहीं बाहर निकलते है तो अपने साथ ब्लोटिंग पेपर रखना ना भूले। बाहर जाने के बाद जब आपको लगता है की आपकी त्वचा बहुत अधिक तेल वाली और चिपचिपी हो गई है तो ब्लोटिंग पेपर का इस्तेमाल करें और अपने चेहरे के तेल और गन्दगी को हटा ले।
ऐसा करने से आपकी त्वचा को आराम भी मिलेगा और आपकी त्वचा सुरक्षित भी रहेगी।

त्वचा की देखभाल कैसे की जाती है तथा क्यों?

फेस मास्क का इस्तेमाल

ऑयली स्किन वालों को मुल्तानी मिट्टी और चंदन के फेस मास्क काफी आराम देते है। यह फेस मास्क त्वचा के अधिक तेल को सोख लेते है और त्वचा को ठंडक भी प्रदान करते है जिससे त्वचा के इन्फेक्शन से सुरक्षा मिलती है और त्वचा की गन्दगी भी दूर होती है।

टोनर का इस्तेमाल करना

एक रिसर्च के मुताबिक ऑयली स्किन के बचाव में टोनर बहुत लाभकारी कार्य करता है। टोनर की एस्ट्रिंजेंट प्रॉपर्टी ऑयली स्किन की सुरक्षा के साथ साथ उसे आराम भी पहुंचाती है। अधिक ऑयल को रोकती है और खुले स्किन पोर्स को कम करती है।

यह भी पढ़ें: कैसा है आपका भविष्य, कैसा होगा आपका जीवन

खान पान

अब सबसे महत्वपूर्ण बात जो की हमारे खान-पान से जुडी है जो की सीधे हमारी त्वचा पर प्रभाव डालता है। तेल युक्त भोजन, जंक और फ़ास्ट फ़ूड, मसालेदार भोजन सीधे हमारी त्वचा पर असर डालता है। त्वचा में अधिक ऑयल को बढ़ाता है जिससे स्किन की समस्याएं बढ़ने लगती है।
इसलिए अपने खान-पान को पौष्टिक और हैल्दी रखें, खूब पानी पिए, हरी सब्जियों का सेवन करें और फल, जूस डॉयफ्रुइट्स का सेवन अपनी दिनचर्या में शामिल रखें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top